Shayari of the Day | आज की शायरी बढ़ी ही गजब है

Shayari of the Dayआज की शायरी :- Today shayari and also poetry in hindi you are searching so we are sharing you trending and Today shayari in this blog. ShayariTalk shares new Hindi Shayari for you everyday. If you like reading Top Best Shayari of the Day Shayari, Poetry every day, So hope you Shayari will look good.

If you like it, then share it with your friends on WhatsApp, Facebook, Twitter, Instagram.

आज की शायरी में हम आप के लिए कुछ ख़ास लेकर आये है। और इसे रोजाना अपडेट करते रहते है टुडे शायरी में हम नयी फोटो के साथ शायरिया शायरिटोक पर आप के लिए लाते रहते हे अगर आप के सुझाव हो तो हमे नीचे कमेंट में जरूर बातये और आज की शायरी को अपने दोस्तों के साथ ज्यादा से ज्यादा व्हाट्सप्प, फेसबुक, ट्विटर, इंस्टाग्राम इत्यादि जगह पर शेयर जरूर करे आप का इस पेज बने रहने के किये धन्यवाद।


today shayari-सहम उठते हैं

“सहम उठते हैं कच्चे मकान पानी के खौफ़ से,

सहम उठते हैं कच्चे मकान पानी के खौफ़ से!”

Shayari of the Day July 2021

कहां मिलते हैं कोई समझने वाला, जो भी आता है समझा कर चला जाता है।


सोचा था आज कुछ तेरे सिवा सोचूँ, तब से सोच में हूँ कि और क्या सोचूँ।


आए ना आए उनकी मर्जी, हमपे वाजिब है उनका इंतजार करना।


इश्क़ करने वाले कितने भोले-भाले होते है, जिसने चखा उसके जुबान पर छाले होते है।


किसी को अपना बनाना हुनर ही सही, लेकिन किसी का बनकर रहना कमाल की बात होती है।


आज में ही इंसान चैन की नींद सोता है, कल को सोचकर सिर्फ परेशान होता है।


ताउम्र चलती है कभी पूरी नहीं होती, यह मोहब्बत है यारो कभी पूरी नहीं होती।


छल में बेशक बल है, माफ़ी आज भी हल है।


आजाद रही है विचारों से, लेकिन बंद के रहिए संस्कारो सें।


सिलसिला आज भी वही जारी है, मेरी नींदों पर तेरी याद भारी है।


मीठा सा सफर होता है यह जिंदगी का.. बस कड़वाहट तो किसी से ज्यादा उम्मीदें रखने से होती है।


फासलें इस कदर आज है रिश्तों में, जैसे कोई कर्ज चुका रहा हो किस्तों में।


साथ छोड़ने का बहाना चाहिए, वरना साथ देने वाला तो, मौत के दहलीज तक साथ निभाता है।


गुजर गया आज का दिन भी यूँ ही बेवजह, ना मुझे फुर्सत मिली, ना तुझे ख्याल आया।


जिंदगी हो या शतरंज, मजा तभी आता है, जब रानी, मरते दम तक साथ हो।


आज बहुत मेहरबान हो सनम क्या चाहते हो, हमें पाना चाहते हो या किसी को जलाना चाहते हो।


सिखाना सके जो किताबें उम्र भर फिर करीब से कुछ चेहरे करें और ना जाने कितने सबक सीख लिए।


मोहब्बत की आज यूँ बेबसी देखी, उसने तस्वीर तो जलाई मगर राख नहीं फेकी।


आज की शायरी – Aaj Ki Shayari, Poetry

Aaj Ki Shayari, Poetry, Shayari of the Day

हमारे पास था भी क्या, एक सब्र के सिवा, वो भी आज लुटा बैठे है, तेरे इन्तजार में।


सिर पर आसमान है, पैरों तले जमीं है, फिर भी बेचैन है दिल, न जाने अब क्या कमी है।


हरा आपका खिला रहे, गुलाब की तरह नाम आपका रोशन रहे, आफताब की तरह ग़म में भी आप हँसते रहे फूलों की तरह अगर हम इस दुनिया में न रहें आज की तरह।


किसी नजर को तेरा इन्तजार आज भी है, कहाँ हो तुम ये दिल बेकरार आज भी है।


एक rose उनके लिए जो मिलते नही रोज़-रोज़, मगर याद आते है हर रोज़।


आज उसने कहा कि तुमने मेरे लिए किया ही क्या है? अब उसे कौन्त बताए कि हमने अपने लिए जिया ही क्या है।


टूटा हुआ फूल खुशबू दे जाता है बिता हुआ पल यादें दे जाता है हर शख्स का अपना अंदाज़ होता हैं, कोई ज़िन्दगी में प्यार तो, कोई प्यार में ज़िन्दगी दे जाता हैं।


बड़ी बेपरवाह हो गई है खुशियाँ भी आज कल, कब आती है, कब जाती है पता ही नही चलता।


मेरा हर ख्वाब आज हक़ीक़त बन जाए, जो हो बस तुम्हारे साथ ऐसी ज़िन्दगी बन जाए, हम लाएं हैं, लाखो में एक गुलाब तुम्हारे लिए, और ये गुलाब मुहब्बत की शुरुआत बन जाए।


यह भी पढ़े :-

Hum Tere Deewane He | हम तेरे दीवाने है! शायरी पढ़ने के लिए यह क्लिक करे।

Shayari of the Day | माँ के पैरों में ही तो वो जन्नत शायरी पढ़ने के लिए यह क्लिक करे।

Shayari of the Day – इत्र से कपड़ो को महकाना यह शायरी पढ़ने के लिए यह क्लिक करे।

अधिक पढ़ने के लिए नीचे देखे:-

Add Comment

+ +